देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ

Image source,भारतीय देसी ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्स हॉट वीडियो बीएफ: देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ, तो मैं धीरे-धीरे उन्हें नीचे से ऊपर की तरफ़ चूमते हुए उनके मुँह की तरफ़ आया और उन्हें गर्दन और होंठों पूरी मस्ती से चूमने लगा, चाची ने मुझे अपने बदन से कस कर चिपटा लिया।चाची फिर गर्म हो गई थीं.

सील पैक सेक्स वीडियो

मैं इस कहानी को लिख रहा हूँ, तो मेरे सपनों वाली कहानी का मजा लीजिए और अपना प्यार भरा संदेश मुझे दीजिए। हाँ दोस्तों इस कहानी में मैं किसी की चूची की नाप नहीं बताउँगा और न ही फिगर की साईज।दोस्तो, मैं उस रात घर में बिल्कुल अकेला था। क्योंकि मेरे परिवार से सभी लोग मेरे ससुराल किसी फंक्शन में शिरकत करने गए थे। इस वक्त पूरे घर का बोझ मुझ नन्ही सी जान के कन्धे के भरोसे छोड़ गए।खैर. सेक्सी वालपेपरहर महीने किसी एक दिन किसी भी ठिकाने पर मिलते थे और इस दौरान खाने-पीने के साथ दुनिया जहान की बातें होती थीं। किटी पार्टी का बस एक ही नियम था कि कुछ ऐसा करो जिससे हँसी के ठहाके गूंजते रहें।इस बार किटी पार्टी के लिए तय हुआ कि फैशन परेड होगी। बाकी गेम्स भी वहीं तय होने थे। इस बार की पार्टी अर्चना के घर थी। हम चारों यानी मैं, रजनी.

रात को भी एक अजीब सी बेचैनी दिमाग़ में थी। सुबह नाश्ता किया उसके बाद दोबारा वेसी ही बेचैनी महसूस कर रही हूँ।पुनीत- अरे कुछ नहीं. सेक्सी सेआपके दोनों बच्चों को मैं अपना ही मानूँगा।मैं बोली- सर जी आपने मेरी सभी चिंता ख़त्म कर दी।मैंने सर जी का लण्ड अपने मुँह में लेकर चूसने लगी। सर जी भी मूड में थे.

मैं मस्ती में सिसियाते हुए उसके होंठों पर होंठ रख कर किस करने लगी।अनूप मेरे जीभ को मुँह में लेकर चूसते हुए एक उंगली मेरी चूत में पेल कर आगे-पीछे करने लगा.देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ: तो पापा अब मम्मी की टांगों की तरफ आ गए और मम्मी की टांगों और जाँघों को मसाज करने लगे। जिससे मम्मी की चूत अच्छी तरह गरम हो जाए और पानी छोड़ दे।फिर चुदाई भी अच्छी तरह हो सके। अब पापा मम्मी की तरफ बढ़े और मम्मी की चूत को फिर चूमने चाटने लगे।मम्मी पापा का पूरा साथ दे रही थीं और उनके मुँह से आवाजें आने लगी थीं- आअह्हह.

अभी-अभी कॉलेज से पास करके एमसीए का कोर्स कर रही है।मैं आपको बता दूँ कि मेरी गर्ल-फ्रेण्ड के घर मेरा हमेशा आना-जाना होता रहता है.तो मैं उसके कंधे पकड़ लेता था। प्रिया भी अब मुझे गहरी नजरों से देखने लगी थी।एक दिन रात को प्रिया का फोन आया- सर क्या कर रहे हो?मैंने कहा- तुम्हें याद कर रहा था और देखो तुम्हारा फोन आ गया.

खुद का वीय पीने के फायदे - देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ

आज सभी लड़कियाँ मुझे बहुत सेक्सी लग रही थीं, उनकी घुटनों से ऊपर उठी हुई स्कर्ट को देख कर मानो ऐसा लग रहा था कि वो स्कर्ट मुझे बुला रही हों और कह रही हों.जिससे उसकी चूत के कुछ बाल उतर जाते थे। मैं समझ गया कि आज भावना अपनी चूत के बाल हेयररिमूवर से साफ कर रही है।मैं उसे बड़े ही गौर से देख रहा था कि अचानक उसकी नज़र मेरे ऊपर पड़ गई और उसने एकदम से बाथरूम का दरवाजा बंद कर लिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !यह देख कर मैं बहुत डर गया और छत से नीचे उतर आया।मैं सारे दिन इसी उधेड़बुन में लगा रहा कि अगर जीजी इस बारे में पूछेंगी.

बिना देर किए उसकी चूत में लण्ड डाल दिया।वो एकदम नंगी ज़मीन पर पीठ के बल लेटी थी, मैं अपना पूरा लण्ड उसकी चूत में पेल रहा रहा था।उसकी चूत से ‘फ़च.देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ पर मैं इस बार दीपक के मोटे लण्ड को अपनी चूत में लेना चाहती थी और अपनी गरम चूत को दीपक के लण्ड से लड़ाना चाहती थी।दीपक के लण्ड ने तो पहली चुदाई में मुझे तो केवल दर्द ही दिया था.

जो उसके टखनों तक लंबा था।वैसे पाठकों को बता दूँ कि मैं नेहा के पूरे बदन से अच्छी तरह वाकिफ़ हूँ। फिर भी मैं उसे देखता हूँ.

ना चौधरी की सेक्सी वीडियो?

देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ ये फैसला करती रही। मगर किसी नतीजे पर पहुँचने से पहले वो नींद की दुनिया में खो गई।सुबह 7 बजे पायल को अपनी जाँघ पर कुछ गीला-गीला सा महसूस हुआ.

मा बेटे की सेक्स कहानी?बीएफ पिक्चर सेक्सी मराठी

देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ बल्कि अपना लौड़ा उसे चुसाया और बोला- आज इसे तुम्हारी गाण्ड में डालूंगा।मैंने थूक और तेल आदि लगाकर गाण्ड में लंड डालने की कोशिश की.

सेक्सी ब्लू पिक्चर चित्र

जैसे चुदाई के वक़्त किसी रण्डी के होते हैं। वो कमर को ज़ोर-ज़ोर से हिला रही थी और बड़बड़ा रही थी- आह सस्स आह.हमने टीटी को टिकट दिखाया और केबिन लॉक कर लिया। टीटी ने ध्यान ही नहीं दिया कि टिकट किस के नाम कू है और कौन बैठा है, ना ही उसने आइडी मांगा। मैंने सोच लिया था कि अगर टीटी ने कुछ बोला तो पैसे देकर उसका मुँह बन्द कर दूंगा।दोस्तों अन्तर्वासना पर मैंने ट्रेन की बहुत कहानियाँ पढ़ी होंगीं.

देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ कसम से मेरे तो होश उड़ गए थे, मैं सीधा लेट गई।फिर वो मेरे ऊपर आया और मुझे बुरी तरह चूमने-काटने लगा। अब चुदाई ख़तरनाक लगने लगी और उसने मुझे भी पागल कर दिया।जोश-जोश में मैंने भी अपने नाखून उसकी कमर से रगड़े.

गाने सेक्सी में

कॉमेडी डाउनलोडभाभी को इस तरह से चलता देख कर मेरा लंड बेकाबू हो रहा था और लण्ड को काबू में लाने के लिए अपने हाथ से अपने लंड को भींच रहा था। शायद मसलने की जगह भींचना शब्द ही उचित होगा।हम लोग भाभी के कमरे में आ गए और मैंने तुरंत भाभी को पीछे से जकड़ लिया। मेरा लिंग उनके गुदा द्वार से टकरा रहा था।भाभी मुझसे बोलीं- जानू इतनी जल्दीबाजी अच्छी नहीं.

दोस्तो, मेरा नाम राकेश शर्मा है, मैं जिला सतना मध्य प्रदेश का रहने वाला हूँ।मुझे सेक्सी कहानियाँ पढ़ने में बहुत मजा आता है। मेरी पसंद देखकर मेरे मित्र ने मझे इंटरनेट पर अन्तर्वासना की सेक्सी कहानियों के बारे में बताया.लेकिन इतने में नेहा ऐसा कुछ बोल गई कि मैं बस उसके मासूम से दिखने वाले चहरे को देखता ही रहा।उसने कहा- जो तुमने किया वो गलत नहीं था। लेकिन मुठ्ठ मारने क्या जरूरत थी.

तब सबसे पहले मेरा उसकी गाण्ड मारने का जी करता था। मुझे ब्रा-पैंटी लन्ड पर रख कर मुठ मारने मजा आता था तो मैं आन्टी की ब्रा-पैंटी चुरा कर मुठ मारता था। कभी-कभी मैं आन्टी को उनके आंगन में पेशाब करते देख लेता था।एक दिन हमारी कॉलोनी में साँप निकला था.

क्योंकि मैंने पैन्टी नहीं पहनी थी।फिर मैं मिरर के सामने बैठ कर पूरी तरह से तैयार हो कर बिस्तर पर लेट गई।तभी घंटी बजी.

क्योंकि वहाँ एसी मस्त चलता है और कोई आता-जाता नहीं है।मेरी ट्रेन दिल्ली सराय रोहिल्ला से जम्मू की थी. ’ की आवाज आई लेकिन लण्ड पूरा अन्दर जा चुका था। इसलिए मैं थोड़ा से उसके ऊपर लेट गया और उसकी पीठ और गर्दन को चूमते हुए उससे बोला- जानू.

करीना कपूर कि सेक्सी व्हिडिओ तुम जल्दी से मेरे अन्दर आ जाओ।मैं फिर से उसके होंठों के पास आया और उसे ज़ोर से किस करने लगा और उसकी चूचियाँ दबाने लगा और वह मादक सीत्कार करने लगी ‘ऊह्ह.

इंग्लिश में ब्लू पिक्चर भेजो

देसी भाभी की चुदाई वाली बीएफ: फिर मैं वापस आकर लेट गया।चाची की जांघ देखने के बाद मेरी नींद उड़ गई थी, मुझे रात में नींद ही नहीं आई। मैं तो अपने मन में चाची को चोदने का प्लान बना रहा था। मेरे और चाची के बीच मज़ाक-मस्ती कुछ ज़्यादा ही होती रहती थी।दिन भर यूं ही सोचता रहा.लगता था कि कोई आम की फाँक हो।मैंने किरण को नंगी कर दिया और उसने भी मुझे नंगा कर दिया।एक तो जनवरी की सर्दी.