बढ़िया से बढ़िया बीएफ

Image source,తెలుగు సెక్స్ ఓపెన్

तस्वीर का शीर्षक ,

बिहारी भाभी की: बढ़िया से बढ़िया बीएफ, तभी मुझे महसूस हुआ कि माँ की बुर से कुछ मुलायम सा चमड़े का टुकड़ा लटक रहा है।जब मैंने उसे हल्के से खींचा तो पता चला कि वो माँ की बुर की पूरी लम्बाई के बराबर यानि ऊपर से नीचे तक की लंबाई में बाहर की तरफ निकला हुआ था और जबरदस्त मुलायम था।उस समय मेरा लंड इतना टाइट हो गया था कि लगा जैसे फट जाएगा.

गंगूबाई काठियावाड़ी फुल मूवी डाउनलोड

धीरे से डालना।पर मैंने भी अपने शैतान जगा दिया, अब मैं उसको अपनी मर्ज़ी से चोदना चाहता था।मैंने उसको उल्टा लिटाया. బ్లూ సెక్స్आप तो बस जल्दी से मुझे अपनी प्यारी-प्यारी ईमेल लिखो और मुझे बताओ कि आपको मेरी कहानी कैसी लग रही है।कहानी जारी है।[emailprotected].

तो सब कुछ बदल सा गया। पहले जब भी रात के अंधेरे में उसकी हरकत करती और चरम सुख के सनसनाते हुए पल जब बीत जाते. फिल्म हिंदी सेक्सी फिल्म हिंदीबल्कि अपने हाथ में ही लिया हुआ था। फिर मैं उसकी सेल की ब्राउज़िंग करने लगी।नावेद ने मुझे रोकना चाहा और अपने होंठ मेरे कानों से छू कर और अपना हाथ मोबाइल की तरफ बढ़ा कर बोला- भाभी मेरा सेल दे दें.

उन दिनों वो उमड़ती जवानी के बहाव में बहते हुए खुद को नहीं संभाल पा रही थी।फिर मुझे उन लड़कियों के खेल का एक एक सीन याद आने लगा। उनका वो डिल्डो.बढ़िया से बढ़िया बीएफ: तो हम सबने खाना खाया और फिर जाने लगे।मैं और मैडम एक ही कार से चल दिए। मैडम ने मेरे घर पर कह दिया कि यह रात भर मेरे घर रुक गई थी.

’ की आवाज हुई और उसके बाद मैंने उसे चोदना शुरू किया। वो भी धीरे-धीरे अपनी गांड को आगे-पीछे मंद गति से करती जा रही थी।जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत के अन्दर पूरी तरह से गई वो बावली हो गई, उसने मुझे अपने ऊपर खींच लिया।लगभग 5 मिनट तक हम दोनों ने चुदाई की.उन पर लाल-लाल बेर चिपके थे… आज मेरी सारी मनोकामना पूरी हो गई लगती थी।मैंने उन मदमस्त गोलों को अपने हाथ में लिया और मसलने लगा। वो भी अब जोश में आ चुकी थी। मैं फिर उसके निप्पल दबाने लग, वो आहिस्ता-आहिस्ता सख्त होते जा रहे थे, मैंने उन्हें जी भर कर चूसा।उसके मुँह से सिसकारियाँ निकाल रही थी।फिर मैंने उसको अपनी पैन्टी उतारने को कहा.

आदिवासी सेक्सी वीडियो राजस्थानी - बढ़िया से बढ़िया बीएफ

उसके चेहरे का रंग उड़ गया और माथे पर पसीना बहने लगा।वो फ़ौरन ही दरवाजे की तरफ भागा, मैं जल्दी से रसोई में चली गई।फैजान ने बाहर झाँक कर देखा और फिर अन्दर आकर दरवाज़े को लॉक कर लिया और तेज़ी के साथ जाहिरा की तरफ बढ़ा।जाहिरा ने अपनी दोनों बाज़ू फैलाए और बोली- आ जा मेरे राजा.फिर मैं ठीक उसके ऊपर लेट गई और अपने हाथों से उसको ठीक किया ताकि मोमबत्ती की लंबाई मेरी योनि के ठीक नीचे हो।मोमबत्ती को योनि छिद्र पर दबाया तो एक मधुर अनुभव हुआ.

वो अब मेरी चूत की कहाँ सोचेंगे?जाहिरा ने भी मेरी चूत के लबों को चूमा और फिर आहिस्ता आहिस्ता अपनी ज़ुबान मेरी चूत के लबों पर फेरने लगी। जैसे ही जाहिरा की ज़ुबान मेरी चूत को छूने लगी.बढ़िया से बढ़िया बीएफ और खुद इतनी जल्दी निकल लिए।उसने हँस कर मेरा वीर्य चेहरे पर मल लिया और मुँह धोने चली गई।जब वो लौटकर वापिस आई.

जा चाय गरम करके भाई को दे दे और मुझे प्यार से वहीं बैठने के लिए कहा।मैंने चोरी से माँ की ओर देखा तो माँ मुझे देख कर पूछने लगीं- आज नींद कैसी आई?मैंने कहा- अच्छी.

मैक्सी डिजाईन?

बढ़िया से बढ़िया बीएफ ’ निकली और वो मेरे लौड़े को गड़प कर गई।मैं जोर-जोर से अपना लंड उसकी चूत के अन्दर-बाहर करने लगा।उसको भी बहुत मजा आ रहा था.

अफ्रीका की सेक्सी मूवी?बांग्ला सेक्सी बीपी

बढ़िया से बढ़िया बीएफ ’ की आवाज़ निकाल रहा था और मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।फिर मैंने मॉम से कहा- चलो हम 69 अवस्था में चुसाई करते हैं।अब हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए.

ब्लेजर कपड़ा

वो पड़ोस की रहने वाली हैं और उनकी चूचियाँ बहुत बड़ी हैं और चूतड़ भी तरबूज जैसे उठे हुए हैं। इतनी कातिल जवानी है कि कोई भी उसको देख कर मुठ्ठ मारने लग जाए।मैंने भी उनके सपने देख कर बहुत बार मुठ्ठ मारी थी। मैंने पहले कभी भी सेक्स नहीं किया था।मेरी आंटी बहुत ही सेक्सी हैं और वो एक गृहणी हैं.इसलिए मजा दुगुना आ रहा था।कुछ देर के तूफान के बाद दोनों एक साथ ही अपने चरम पर पहुँच गए और मैंने अपने माल से उसकी चूत भर दी।मैंने कहा- कैसा लगा भाभी.

बढ़िया से बढ़िया बीएफ जिससे उस हिस्से का मुँह चूत पर लगता हो।उसके बाद वही पैन्टी जिस पर में झड़ गया था। उसे मैंने अपने हाथों से पहना दी और एक-एक करके सारे कपड़े पहना दिए।फिर मैं उसे 10 मिनट तक किस करके उसके ऊपर सोता रहा। जब मैंने आँख खोली तो उसने मुझे काफी लाकर पिला दी और कहा- प्रोजेक्ट का काम तो रह गया.

सेकसी ईसटोरी

मैं सूरज तू चंद्रावलवहाँ पर मामी कोने में चारपाई पर बैठी थीं, मैं उनके पास गया।चांदनी रात थी मामी का बदन चमक रहा था, उनको देख कर मन में कामुक ख़याल आ रहे थे।मैं आप सब को मामी के बारे में बता दूँ। उनका नाम सरिता है.

फिर देख मैं तुझे हमेशा के लिए अपने पास काम पर रख लूँगा। तू दिन के 500 रुपये तक कमा लेगी। चल अब थोड़ा ऊपर दबा.तो छत पर उसका पैर फिसल गया।इससे उसके पैर में मोच आ गई और वो वहीं पर गिर गई और ज़ोर से चिल्लाई- ऊऊयय्यी माँ.

ठीक है लेकिन इस बात का पता किसी को नहीं चलना चाहिए।तो मैंने कहा- मैं कभी भी किसी को कुछ नहीं बताऊँगा और यह बात तुम्हारे और हमारे बीच में ही रहेगी.

पलंग पर पहले आशू और बीच में मेरी बीवी और साइड में मैं लेट गया।थोड़ी देर के बाद मैंने अपनी बीवी का चूचा दबाया तो बोली- चुपचाप सो जाओ.

फिर देख मैं तुझे हमेशा के लिए अपने पास काम पर रख लूँगा। तू दिन के 500 रुपये तक कमा लेगी। चल अब थोड़ा ऊपर दबा. फिर वो जरा सा फुदक कर ही जल्दी खलास हो जाते हैं।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने सोचा आज तो मजा आ जाएगा.

सेक्सी पिक्चर डाउनलोड सेक्सी पिक्चर यही सोच कर मैं अपने कमरे की तरफ गई और फैजान को आवाज़ दी।दूसरी आवाज़ के साथ ही ज़ाहिर है कि फैजान भागता हुआ आया। उसने अपने कपड़े पहन लिए हुए थे।वो बोला- हाँ क्या बात है.

निरहुआ का नंबर

बढ़िया से बढ़िया बीएफ: मजा नहीं आया क्या?यह सुनते ही मुझे भी हँसी आ गई और मैंने फिर से एक डुबकी मारी और फिर 4-5 सेकंड तक उनका लंड मुँह में रख कर बाहर निकला।भैया बोले- वाह मेरे बच्चे.फिर मैं उसके मम्मों को चूसने लगा। वो भी मेरे लौड़ा से खेल रही थी और शायद इस बीच मैं वो एक बार झड़ चुकी थी।मैं उसके मम्मों को भूखे कुत्ते की तरह चूस रहा था.