मुसलमानों की बीएफ पिक्चर

Image source,कैलेंडर ओपन सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

ट्यूशन टीचर की चुदाई: मुसलमानों की बीएफ पिक्चर, हाय दोस्तो, मैं विवेक हूँ। अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है। हालांकि अन्तर्वासना पर मैंने कई कहानियाँ पढ़ी हैं और मुझे पसंद भी आती हैं.

बड़ी उम्र की

तो यहाँ मस्ती चल रही है और वहाँ वो तीनों बाहर आ गए हैं।अर्जुन- क्या बात करते हो. सैक्स की कहानीमैंने उस दिन की तरह फिर चूतड़ों पर हाथ घुमा दिया।भाभी कुछ नहीं बोलीं और चली गईं।थोड़ी देर में भाभी फिर आईं.

ना जाने उनको कितना जोश चढ़ गया था।मेरी पैन्टी फटने के बाद मैंने भी उनका कच्छा फाड़ दिया और उनके लंड से खेलने लगी। जिस लंड के लिए मैं इतने दिनों से तड़फ़ रही थी. किन्नरों की चुदाईतो मैंने एक ज़ोर का धक्का लगा दिया। मेरा बाकी का लण्ड भी उनकी गाण्ड में समा गया।वो ज़ोर से चीखीं तो मैंने कहा- बस हो गया।उनके बाद मैंने उनकी गाण्ड मारनी शुरू कर दी, थोड़ी देर चीखने के बाद वो शांत हो गईं, अब उन्हें गाण्ड मरवाने में भी मज़ा आने लगा था।लगभग 5 मिनट तक मैंने उनकी गाण्ड मारी.

फिर उसको दीवार से सटा कर उसकी चूत का मजा लेने लगा।कुछ देर चूत का मजा लेते-लेते उसका शरीर अकड़ने लगा और वो मुझसे एकदम से चिपक गई।मैं समझ गया कि वो फिर से झड़ने वाली है.मुसलमानों की बीएफ पिक्चर: और सुरभि की चूत को चूसते हुए अपनी उंगली से भी पेलने लगी।इधर मेरा लौड़ा धीरे-धीरे अन्दर-बाहर होने लगा.

पर हम दोनों किसी-से कुछ कह नहीं पा रहे थे।हम दोनों ने कॉफ़ी खत्म की और रेस्ट्रोरेंट से निकलने लगे.पर मेरा मन तो मामी पर ही अटका हुआ था।तभी मामी ने आवाज़ लगाई- श्याम ज़रा इधर आना.

बिग मेट डाउनलोड - मुसलमानों की बीएफ पिक्चर

बल्कि खुल कर हमारे साथ ही ये सब एंजाय करें।ये कहते हुए मैं खड़ा हुआ और आपी की तरफ 2 क़दम ही बढ़ा था कि आपी फ़ौरन खड़ी हो गईं और अपनी चादर और स्कार्फ उठा कर सिर झुकाए-झुकाए कमरे से बाहर निकल गईं।शायद उन्हें बहुत अफ़सोस हो रहा था अपनी इस हरकत पर.मैं और मामी उसको पकड़े रखने की पूरी कोशिश कर रहे थे।लेकिन वहाँ पर कीचड़ होने की वजह से मैं फिसल गया और भैंस मेरे हाथ से छूट गई।मैं भैंस की तरफ जाने लगा तो मामी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोलीं- बस रहने भी दो। काम पूरा होने के बाद पकड़ लेंगे।मैं और मामी भैंस को देखने लगे.

तो उसने भी ‘हाँ’ कर दी। मैं बहुत खुश हुआ और अगले दिन दुकान में एकान्त पाते ही मैंने उसको बाँहों में भर लिया और उसके लाल होंठों पर एक लंबा चुम्बन किया।फिर फ़ोन पर हमारी बातें धीरे-धीरे सेक्स चैट में बदल गईं।एक दिन मैंने उसको सेक्स करने के लिए कहा.मुसलमानों की बीएफ पिक्चर आपी को ज़ुबान चुसवाने में बहुत मज़ा आता था और मैंने आपी के इसी मज़े का फ़ायदा उठाते हुए आपी की टाँगों के दरमियान अपना हाथ रख दिया।मेरा हाथ जैसे ही आपी की चूत के दाने को टच हुआ तो वो मचल गईं.

तो चलो हम भी साथ चलते हैं।सुरभि और सोनाली एक साथ बोलीं- नो कुछ देर बाद आना.

पोर्न पार्टी?

मुसलमानों की बीएफ पिक्चर मेरे लण्ड में जैसे एक खून का सैलाब भर उठा।उधर सुरभि जैसे नशे में पागल हो गई.

सिगरेट कैसे पीते हैं?દેશી સેક્સ ફોટા

मुसलमानों की बीएफ पिक्चर ऐसा कहते हुए मैंने आमिर के लौड़े पर हाथ रख दिया। पहले तो उसने हाथ हटा दिया और उठ कर बैठ गया।वो बोला- अबे साले क्या कर रहा है ये?मैं- साले.

गांड मारते हुए

पूरी अंधेरी रात में कुछ दिख भी नहीं रहा था।अब मैंने डरते-डरते अपना हाथ उनके पेट पर ही फेरना शुरू किया और कोई आपत्ति ना होता देख कर में लगा रहा। चूंकि मौसी की नींद गहरी थी.फिर मैंने अब प्रीत को पेट के बल लेटा दिया और उसकी चूत में लंड डाल कर फिर से उसकी चुदाई करना चालू कर दी।प्रीत और मैं दोनों ही पसीने से पूरे नहा चुके थे।इसी तरह प्रीत को चोदते हुए कोई 5 से 7 मिनट हुए ही होंगे.

मुसलमानों की बीएफ पिक्चर जिससे उसका आधा लण्ड मेरी चूत के अन्दर समा गया।मेरी तो जैसे जान ही निकल गई। लड़कियों ने ताली बजा दी.

इंस्टा प्रो डाउनलोड

जेडएक्सएक्सएक्सएक्सएक्समैं सरकारी जॉब की तैयारी कर रहा हूँ।मैं अन्तर्वासना का बहुत पुराना पाठक हूँ। मुझे कहानियाँ लिखना नहीं आता है.

मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा था।मैंने मामी से कहा- मामी हमें तो भैंस को हरी करनी है.हारना तो उसको ही होगा और हुआ भी वैसा ही अगला राउंड भी पुनीत हार गया।पायल- ओह्ह नो.

मैंने यह सुन कर उसे मारने के लिए हाथ उठाया तो वो हँसता हुआ बाथरूम में भाग गया।उसके निकलने से पहले ही मैंने फिर अपने आपको नींद की परी के सुपुर्द कर दिया।उस दिन के बाद यह हमारा रुटीन बन गया, हम रोज़ रात सोने से पहले एक-दूसरे के लण्ड चूसते व चुदाई करते।फैमिली में सब हैरान थे कि हम दोनों में बहुत अंडरस्टैंडिंग हो गई है।आज कल ना ही हम लड़ते हैं.

तभी आंटी ने मेरा हाथ पकड़ा और अपने पास खींच लिया और मेरे होंठों पर एक जम के लंबा किस कर दिया.

तो आपी ने आँखें खोल दीं। मैं उनके आँसुओं को साफ कर रहा था और आपी बिना पलक झपकाए मेरी आँखों में देख रही थीं, उनकी आँखों में बहुत तेज चमक थी। उस वक़्त पता नहीं क्या था आपी की आँखों में. और मेरी जीभ उसके कान के साथ खेल रहे थे।अचानक से उसने मेरे लण्ड को पकड़ लिया और दबाने लगी। मैं भी साथ ही साथ कान से अलग होकर उसके होंठों को चूसने लगा। काफ़ी देर तक ये चूसने का सिलसिला चला।अब तक मैंने उसके कपड़े उतार दिए थे और उसने मेरे उतार दिए थे, उसने मेरे लंड को हाथ में लिया.

भैंस दूध नहीं देती है तो क्या करें बाथरूम में मामी की पैन्टी टंगी हुई थी। मैंने वहीं मुठ मारी और वापिस आ गया।मेरे आते ही मामी बोलीं- श्याम तेरी गर्लफ्रेण्ड का क्या नाम है?मैंने कहा- मामी मेरी कोई गर्लफ्रेण्ड नहीं है.

यूट्यूब भेजो यूट्यूब

मुसलमानों की बीएफ पिक्चर: कोई बूढ़ा भी कंट्रोल नहीं कर पाएगा।सुरभि और सोनाली एक साथ हंसने लगीं।मैं- ह्म्म्म्म.स्कार्फ बाँधा और अपने जिस्म पर चादर को लपेट कर हमारी तरफ देखे बगैर बाहर जाने लगीं.