बहन भाई के बीएफ

Image source,ஆன்ட்டி செக்ஸ் மூவி

तस्वीर का शीर्षक ,

12 साल की लड़की के साथ: बहन भाई के बीएफ, वो मुस्कराते हुए कहती जा रही थी- इसमें घबराने या शरमाने की क्या बात है डियर! हम सबने ये किया है जो तुम ने किया है.

एक्स एक्स वीडियो हिंदी में

तब गुड्डी अपना हाथ मुझसे छुड़ाने के लिए खींचातानी करने लगी।इसी खींचातानी में मेरा पैर फिसल गया और मैं उसका हाथ पकड़े ही बिस्तर पर बैठ गया।जिसके साथ ही गुड्डी भी ‘धप्प’ से आकर मेरी गोद में गिर गई।उसी पल मैंने उसे अपनी बाँहों में भर लिया और अपना दाँया पैर उसके दोनों पैरों के ऊपर चढ़ा कर उसे जकड़ लिया।फिर मैंने अपने दाँतों के बीच आधा रसगुल्ला दबा कर. हिंदी फिल्म ब्लूतो मैं ही उसके कमरे में उसे ‘बाय’ बोलने के लिए गया तो देखा कि शबनम शीशे में खुद को चुम्बन कर रही थी और अपनी ‘छोटी शबनम’ को सहला रही थी।उतना देख कर मैं वापस आ गया, सोफे पर वापस बैठ गया और इधर से ही उसे एक आवाज़ दी।तो उसने अन्दर से मुझे बुलाया- साहिल मैं अन्दर ही हूँ.

वैसे ही उसका 9 इंच का लंड मेरे सामने आ गया।अब मेरी धड़कनें बहुत तेज हो गई थीं। मुझे यकीन ही नहीं हो रहा था कि इतना बड़ा लंड भी होता है।आनन्द का लंड मेरे शौहर से डबल साइज़ का और मोटा भी था।कुछ सोचे बिना ही मैंने दोनों हाथों से उसको पकड़ लिया, ऐसा लगा कि मैंने कोई गरम लोहा पकड़ा है।फिर ऊपर नज़र आनन्द की तरफ घुमाई. বিএফ ভিডিও দেখাও!सोनी ने अनन्या की ओर देखा तो अनु ने कहा- मेरी तरफ क्यों देख रही हो… मैं तो वैसे भी पीरियड में हूँ… पर बी केयरफुल… हम्म.

दोस्तों नए साल की हार्दिक बधाइयाँ, हालाँकि मुझे यकीन है की मेरी पिछली कहानियाँ पढ़कर साल के आखिरी दिन आपने मस्ती करते हुए बिताए होंगे।आइये साल की पहली कहानी पढ़ते हैं।साक्षी भी मुस्कराते हुए मेरी बाइक पर मुझसे चिपक कर बैठ गई।मेरी पीठ पर साक्षी के भारी चूचे चिपके हुए थे, हर झटके पर पड़ने वाली रगड़ मेरे शरीर में सनसनी पैदा कर रही थी.बहन भाई के बीएफ: जिसके कारण मुझे उसकी गुलाबी ब्रा साफ़ नज़र आ रही थी।मैं उसके उरोज़ों की सुंदरता में इतना खो गया कि मुझे होश ही नहीं था कि घर में सब लोग हैं और अगर मुझे रूचि ने इस तरह देख कर चिल्ला दिया तो गड़बड़ हो जाएगी।लेकिन यह क्या…अगले ही पल का नजारा इसके विपरीत हुआ.

जब आप मेरी इस दास्तान को पढ़ेंगे तो आपको खुद पता चल जाएगा।बात एक साल पहले की है तब मैं 12वीं में था।मेरा एक दोस्त था.कभी-कभी तो मामी चुदने के लिए स्कूल से जल्दी वापस आ जाती थीं।आज तक मामी की चूत मारने जैसा मज़ा मुझे कभी और नहीं आया और शायद आए भी नहीं क्योंकि वो मेरा पहली बार था और मामी भी खूब चुदक्कड़ थीं.

ब्लू सेक्सी हिंदी मूवी - बहन भाई के बीएफ

उसने पूछा- वो कैसे?मैंने कहा- तू मेरी सब से अच्छी दोस्त थी। अगर उस समय जब मेरी गर्ल-फ्रेंड ने मुझे धोखा दिया तब तूने मुझे नहीं संभाला.मैंने लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा औऱ दबाया तो लंड अन्दर जाने के बजाए ऊपर की तरफ सरक गया।मैंने उससे कहा- शरीर को ढीला करो…उसने वैसा ही किया औऱ मैंने फिर से लंड को पकड़ कर जोर लगाया तो लंड का सुपारा चूत के अन्दर तक चला गया।उसके मुँह से चीख निकल गई औऱ मैंने उसकी चीख की परवाह किए बिना फिर से एक जोरदार धक्का लगा दिया और रूक गया।मेरा लंड पूरा का पूरा चूत की जड़ तक अन्दर चला गया था।वो चिल्लाने लगी.

मेरे दिल की भी धड़कनें बढ़ती ही जा रही थी और मेरा लौड़ा भी पैन्ट में टेन्ट बनाए खड़ा था।फिर जब मैं बाथरूम में जाकर मुट्ठ मार रहा था.बहन भाई के बीएफ कहीं ऐसा न हो कि मैं कुछ गलत सोच या कर बैठूँ।उसने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे जाने से रोका और जैसे ही उसने मुझे पकड़ा मैं उसकी तरफ मुड़ा और उसको अपनी बाँहों में भर लिया।मेरा लण्ड पहले से ही खड़ा था.

रूपा सिसक उठी और प्यासी नज़रों से मुझे देखने लगी।उसकी चूत गीली थी।चूत की गहराई नापने के लिए मैंने हाथ की एक ऊँगली रूपा की चूत में घुसा दी।मेरी ऊँगली के घुसते ही रूपा मचलने लगी और सिसयाने लगी- आ आ भाभी रे.

भोजपुरी बफ वीडियो?

बहन भाई के बीएफ आपने अभी कपड़े नहीं पहने।मैंने धीरे से कहा- अभी एक बार और तुम्हें चोदने का मन कर रहा है।दुबारा चोदने के नाम पर श्रेया ने शर्मा कर गर्दन झुका ली और शर्मा कर बोली- मामा.

बाप बेटी एक्स एक्स एक्स?एसी रिपेयर

बहन भाई के बीएफ प्रिया चुपके से अन्दर आ गई।विकास ने टी-शर्ट नहीं पहन रखी थी और नीचे भी बस बिना अंडरवियर के लोवर ही था।विकास- आ गई तुम.

हिंदी एम एम एस वीडियो

अब मैं भी उनके जैसा ही नंगा था।भाभी ने रूपा को कमोड पर बैठा दिया और उसके सामने मुझे ले गईं। इतना करीब कि अगर मैं एक कदम और आगे बढ़ जाता तो मेरा लण्ड रूपा के होंठों को स्पर्श कर जाता.काफ़ी सारी औरतें आपस में तेज आवाज़ में बातें कर रही थी, कुल मिलकर काफ़ी शोर गुल हो रहा था और मेरे लिए यह अच्छी बात थी कि उस शोर-गुल में शायद मेरे द्वारा, हस्त मैथुन के दौरान की गई आवाज़ें किसी को सुनाई ना दे.

बहन भाई के बीएफ इसी की वजह से सारा गड़बड़ हो जाता है।उसका इशारा लंड की तरफ था।सीमा लंड को प्यार करते हुए- इसके बारे में कुछ नहीं बोलो.

એક્સ એક્સ એચડી વીડીયો

एक्स एक्स एक्स एक्स ओपन वीडियोमेरा एक और किस्सा भी यहीं अन्तर्वासना पर आपके साथ साझा कर दूँ।तो पिछले कुछ दिन अनिल ने मेरे साथ जो-जो किया, उससे मेरा तो कुछ अधिक नुकसान तो नहीं हुआ… पर अब, जब वो चला गया तो आप तो जानते ही हैं कि यह फ़ुद्दी चुदाई वाली लत तो बहुत बुरी है रे बाबा.

जैसे मैंने वो काम किया है, और खास करके वहाँ किया है जहाँ वो सोच भी नहीं सकती, मैं तो शर्म से और लाल हो गई.दोस्तो, इस घटना के बाद मुझे एहसास हुआ कि अगर आप किसी को दो पल की खुशी दे सकते हो तो वो दो पल काफ़ी हैं आपकी ज़िंदगी सार्थक करने के लिए…और क्या एहमियत है उन पलों की किसी की ज़िंदगी में…और मैं निकल पड़ा दूसरो की ज़िंदगी में खुशियों के पल बाँटने और अकेले और दुखी लोगों की ज़िंदगी में खुशियाँ भरने…और मुझे यह भी समझ आ गया कि मेरे लंड पर जो तिल है उसका क्या मतलब है…आज की कहानी बस इतनी सी है.

मैं हड़बड़ा गया मेरे मुँह से निकला- अररे !! हाँ, वो बोला था भाभी।मेरे ऐसे बोलने से वो मुस्कुराने लगी।हाय ! मेरी तो जैसे जान ही निकल गई.

तब रानी अपने कपड़े पहन कर लड़खड़ाते कदमों से नीचे चली गई और सूसू करके सो गई।उधर जब मैं भी सोया तो होश ही नहीं रहा और सुबह दस बजे जब तेज धूप मेरे चेहरे पर पड़ी.

बस उसके होंठों पर एक पप्पी कर दी, तो वो शरमा कर मुझसे और लिपट गई और उसका गोरा चेहरा एकदम से लाल हो गया।फिर हम काफ़ी देर तक ऐसे ही एक-दूसरे तो लिपटे हुए सहलाते रहे।फिर वो बोली- तुम बहुत अलग हो. कैसे मैं उस कच्ची कली को लाइन पर लाती हूँ ताकि वो आराम से तुमसे चुदने को राज़ी हो जाए।दोस्तो, यह थी उस दिन की बात और दीपाली के सामने विकास बाहर जरूर गया था मगर दूसरे दरवाजे से अन्दर आकर उनकी सारी बातें उसने सुन ली थीं।अब आज क्या हुआ चलो आपको बता देती हूँ।अनुजा कमरे से निकल कर दूसरे कमरे में गई जहाँ विकास पहले से ही बैठा था।अनुजा- काम बन गया.

हिंदी में सेक्सी वीडियो चुदाई पाँच मिनट के बाद मैंने उसके मुँह में ही पानी झाड़ दिया।वो रंडी न बन जाए हमें छुप-छुप कर चोदा-चोदी करनी थी.

एक्स एक्स एक्स एक्स एन

बहन भाई के बीएफ: मैं धीरे-धीरे अपने हाथ को उसकी चूत पर ले गया तो अचानक उसने मेरा हाथ हटा दिया और अपने आप को छुटा लिया।मैंने उसकी तरफ सवालिया निगाहों से देखा तो उसने कहा- आगे नहीं…तो मैंने पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- आज नहीं.।”अब मैंने एक झटके में रंडी मम्मी के मुँह में अपना लंड डाल दिया। मैंने उत्तेजनावश इतनी जोर से डाला कि मेरा लंड रंडी मम्मी के गले तक पहुँच गया।वो ‘गों-गों’ करने लगी, बोली- मादरचोद… भोसड़ा समझ कर ठूंस दिया.