दादी और पोते का बीएफ

Image source,काजल अग्रवाल का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ससुराल बहू की चुदाई: दादी और पोते का बीएफ, और अपना भारी भरकम हाथ मेरे मुँह के पास रख दिया क्योंकि मैं लेटा हुआ था उसकी गोद में।मस्त हाथ था यार, वो काफी सख्त था गाड़ी चलते हुए कड़क हो चुका था… गाड़ी की हेडलाइट सही करने में थोड़ा गन्दा भी हो गया था।अब मैं उठकर बैठ गया और उसकी बनियान को ऊपर करते हुए उसकी चड्डी में अपना हाथ डाल दिया और उसका 7.

सिक्स विडियो

वो भी कुछ देर तक मुझसे लिपटी रही।फिर उसने कहा- आप फिर से पापा बनने वाले हो. ब्लैक पोर्न वीडियोतो मैं भी मुस्करा दिया।उसके बाद वो जैसे ही किचन से बाहर निकली और दूसरे कमरे में गई, तभी मैंने उसके पीछे जाकर उसको पीछे से पकड़ लिया।वो एकदम से बोली- यह क्या कर रहे हो.

ईमेल ज़रूर करके बताएं!उसके बाद बाद हमारे बीच क्या हुआ, वो अगली कहानी में लिखूँगा।धन्यवाद।[emailprotected]. ममता भाभी की सेक्सीप्राची झाँटों के बीच चूत में तेज़ी से उंगली कर रही थी।एक पल को मुझे ऐसा अहसास हुआ कि जैसे मैं प्राची की चूत मार रहा होऊँ।इस अहसास के चलते मुझे पता ही नहीं चला.

5 तो बनते ही हैं।तो जैसे कि मैं बता रहा था कि मैं अपनी छुट्टियों में उसके घर पर था, रात को मैं और मेरी बहन एक साथ सोते थे।मेरे दिमाग़ में उसके लिए ऐसे तो कोई गलत भावना कभी भी नहीं आई थी.दादी और पोते का बीएफ: क्योंकि उसकी चूत पर खून के छींटे लगे हुए थे।सफाई के बाद कपड़े पहने और घर को रवाना हो चले।रास्ते में मैंने उसको मजाक में बोल दिया- नव्या.

आपने देखा कि किस तरह मेरे देवर रवि ने बड़ी ही होशियारी से मेरी चुदाई की।उसके बाद उसने एक साल तक मेरी चुदाई की.तो मैं मम्मी के कम्बल में घुस गया।मम्मी ने मुझे अपनी गोद में लिटा लिया.

कुंवारी लड़की की नंगी चुदाई - दादी और पोते का बीएफ

जितनी देर इसका काम कवर नहीं हो जाता और ये रात को तुम्हारे पास ही सोएगा।अब्बू के मुँह से यह सुनते ही मैंने सोचा कि यह तो काम खराब हो गया है.वैसा करो।फिर हमने ऑटो पकड़ी और बस स्टैंड आ गए।मैंने कहा- हम कहीं और भी चल सकते हैं।ख़ुशी बोली- तुम मेरी परेशानी नहीं समझ रहे हो.

मैं उसको किस करते हुए उसके ऊपर लेटा रहा।फिर इस दिन के बाद हम दोनों ने कई बार चुदाई की है।मैं आपके कमेंट्स के इन्तजार में हूँ।[emailprotected].दादी और पोते का बीएफ जिसका उसने कोई विरोध नहीं किया।कुछ ही देर में मुझ पर गर्मी चढ़ गई थी, मैंने अपना हाथ उठा कर उसकी कमर के ठीक नीचे नाड़े के पास रख दिया.

इतनी देर में सीतापुर आ गया और हम दोनों को उतरना पड़ा।जाते-जाते शबनम मुझे अपना मोबाइल नंबर दे गई और मैं अपना काम निपटा कर वापस लखनऊ गया।उसी रात मैंने उसे कॉल किया तो उसने मुझे पहचान लिया और बोली- तुमने मुझे तड़पा कर छोड़ दिया।मैंने कहा- मेरी रानी लखनऊ आओ.

मिया खलीफा फिल्म?

दादी और पोते का बीएफ तो मैं आखरी बून्द तक चाट गया जिससे उनकी चूत और साफ़ हो गई।उन्होंने अपना पेटीकोट उठाकर मेरे मुँह को देखा। जब नजरें मिलीं.

तनु नाम का अर्थ?डॉग वाली बीएफ

दादी और पोते का बीएफ जिससे मेरा लंड उसकी चूत के मुँह पर फिट हो गया।अब मैंने साथ ही एक जोरदार झटका लगाया.

दिल्ली गर्ल

वो तो बस लेटे-लेटे हम दोनों का मज़ा ले रही थी।हम लोग उसकी एक-एक चूची को मुँह में भर कर चूस रहे थे। फिर कंची उसकी चूची को ज़ोर से दबाने लगा।‘आहह.फिर उसने मेरे दोनों केले के तने के समान सफेद गोरी मुलायम जाँघों को बहुत ही प्यार से चूमा, मेरे अन्दर एक नया कामुक सा करेंट लगा।यह लौंडा चूमने चाटने में मेरे पहले बॉय फ्रेंड का भी बाप था।अब मैं पूरा होश खो चुकी थी। मैंने उसको बालों से पकड़ कर खींचा और उसका मुँह मेरी माल टपकाती हुई गर्म चूत पर लगा दिया। वो सटासट मेरी चूत चूसने में लग गया।‘आआआहह.

दादी और पोते का बीएफ कि उधर ही जाकर खाना खा आए।मैं सब भूल गया था, पीछे से क्या लग रही थी वो… सामने उसके जैसी किसी की गांड हो.

साउथ फिल्म 2020

वॉलपेपर नंगेजिसे भी देखो उसके पैन्ट पर लंड की जगह ही नजर जाती है।मन में चुल्ल रहती है कि कैसे भी बस लंड मिल जाए।सपने में यही दिखाई देता है कि दोस्त मेरी गांड मार रहे हैं, अपना मोटा लंड मेरी गांड में पेल रहे हैं।दोस्तो, मैं भी ऐसी ही बुरी हालत से गुजरा हूँ। क्या कभी आपकी ऐसी हालत हुई। लंड कैसा भी हो.

उसकी चूची इतनी मस्त और रसीली थी कि उसे छोड़ने का मन ही नहीं कर रहा था।मैंने ख़ुशी से कहा- आज मैं चूची का सारा दूध निकाल लूँगा।खुशी कामुकता से सिसकारते हुए कहने लगी- आह्ह.मेरे पास बहुत ‘अन्दर’ तक आने के कई प्लान हैं।फिर देर रात सविता भाभी उनके पति अशोक और राज ने डिनर किया। राज ने डिनर की तारीफ़ की, जिस पर सविता भाभी ने कहा- अरे बस बस.

’ करती रही।फिर मैंने अपना हाथ पैन्टी से बाहर निकाल लिया और पैन्टी भी उतार दिया।मेरी बहन की चूत एकदम टाइट थी, उस पर छोटी-छोटी रेशमी झांटें उगी थीं।मैंने अपनी एक उंगली बहन की चूत में डाली तो नेहा चिल्ला पड़ी।फिर मैं अपनी बहन की चूत को चाटने लगा और अपनी जीभ भी चूत के अन्दर करने लगा।मेरी बहन के मुँह से ‘आआहह.

तो हम तीनों भी सोने लगे।अभी तक मेरे मन में कोई भी ऐसी-वैसी बात नहीं थी। लेकिन ये सब बातें करने से हम सभी में सेक्स के प्रति एक जैसा भाव दिखने लगा।चूंकि जवानी में सभी चूत-लण्ड से सम्बंधित बातों में खूब रस आता है पर किसी न किसी वजह से पूरी तरह से जल्दी खुलना संभव नहीं हो पाता है।खैर इसके थोड़ी देर बाद जब सब चुप हो गए.

जैसे मन की कोई मुराद पूरी हो गई हो।आंटी ने मुझसे कहा- मैं जैसे कहती जाऊँ. लेकिन घर पर सभी के होने की वजह से मौका नहीं मिल पा रहा था। अब तो मैं उसको चोदने के सपने देखता था.

खूबसूरत लड़की मेरे भैया की तरह।मैं भाभी को बेड पर ले गया, उनको इस तरह किया कि वो मेरा लण्ड चूसने लगीं.

मायजिओ डॉट कॉम

दादी और पोते का बीएफ: और बना लो मुझे अपने लौड़े की दीवानी।मैंने घुटनों के बल बैठ कर अपने लंड को भाभी की चूत पर रखा और जोर से एक धक्का मारा जिससे मेरी लंड भाभी की चूत के अन्दर 2 इंच घुस गया। भाभी एकदम से तड़प उठी और उसने मुझे कसके जकड़ लिया। उसकी तड़फ इतनी तेज थी कि एक बार फिर जोर से काट लिया।मैंने एक झटका और मारा जिसे मेरा लंड पूरा भाभी की चूत की जड़ में घुस गया। कुछ पल के दर्द के बाद भाभी अपने हाथ मेरी पीठ पर घुमाने लगी.जो मुझे अपनी ओर खींच लें।‘मेरे बारे में तुम्हारा क्या ख्याल है?’ उसने पूछा।‘क्या मतलब?’‘क्या तुम मुझ पर कहानी लिख सकते हो.